एक्टर-डायरेक्टर सतीश कौशिक हुए पंचतत्त्व में विलीन, जानिए कैसा रहा उनका अब तक का सफर l

0
Satish Kaushik

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता,निर्देशक,निर्माता, एवम हास्य अभिनेता सतीश कौशिक जिनका निधन 9 मार्च को हो गया है। उनके निधन से तमाम बॉलीवुड के सितारों और उनके फैंस को गहरा धक्का लगा है क्योंकि सतीश अभी कई फिल्मों से जुड़े थे. कंगना रनौत के साथ वो Emergency फिल्म कर रहे थे लेकिन अब उनके निधन की खबर ने लोगों को हिला दिया. सतीश कौशिक अपने अभिनय से लोगों पर गहरा असर डालते थे. सतीश का सीरियस कैरेक्टर हो या कॉमेडियन, हर किरदार में उनका बेहतरीन प्रदर्शन लोगों का दिल जीत लेता था. आइए जानते है सतीश कौशिक से जुड़ी बातें जो आज आपको जाननी चाहिए l

RIP- Actor Satish Kaushik

कौन थे सतीश कौशिक?

सतीश कौशिक एक प्रसिद्ध भारतीय अभिनेता, फिल्‍म निर्माता और हास्य अभिनेता हैं जो बच्‍चों और वयस्‍कों दोनों के बीच बहुत प्रसिद्ध है। इनका जन्म 13 अप्रैल, 1956 को महेंद्रगढ़, हरियाणा के पास के एक साधारण परिवार में हुआ था। उनकी स्कूली पढ़ाई उनके गाँव से हुई लेकिन कॉलेज की पढ़ाई उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के किरोड़ीमल कॉलेज से स्नातक किया, और बाद में दिल्ली में राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (NSD) में शामिल हो गए। सतीश कौशिक अपने बहुमुखी अभिनय कौशल, कॉमिक टाइमिंग और एक निर्देशक के रूप में अपने अभिनेताओं में सर्वश्रेष्ठ लाने की क्षमता के लिए जाने जाते थे । उन्हें भारतीय मनोरंजन उद्योग में सबसे प्रतिभाशाली और सम्मानित व्यक्तित्वों में से एक माना जाता था।

सतीश कौशिक का करियर

1980 के दशक की शुरुआत में एक थिएटर अभिनेता के रूप में उन्होंने मनोरंजन उद्योग में अपना करियर शुरू किया, जहाँ उन्होंने कई नाटकों में अभिनय किया और अपनी प्रतिभा के लिए पहचान हासिल की। कई थिएटर्स करने के बाद साल 1983 में उन्हें पहला ब्रेक “जाने भी दो यारों” में मिला लेकिन उन्हें पहचान फिल्म “मिस्टर इंडिया” (1986) में मिली. इस फिल्म में सतीश का ‘कैलेंडर’ वाला रोल हर किसी के दिल को भा गया। सतीश कौशिक ने साल 1985 में शशि नाम की लड़की से शादी की थी। उनके दो साल का बेटा साल 1996 में मर गया था, जिसके बाद वो काफी गहरे सदमे में चले गए थे। बाद में, वह मुंबई चले गए और टेलीविजन और फिल्मों में काम करने लगे।1990 के दशक में, सतीश कौशिक ने “मिस्टर इंडिया,” “राम लखन,” “कर्ज,” और “साजन चले ससुराल” जैसी फिल्मों में भूमिकाओं के साथ एक चरित्र अभिनेता के रूप में बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाई। उन्होंने “रूप की रानी चोरों का राजा,” “हम आपके दिल में रहते हैं,” और “हसीना मान जाएगी” सहित कई फिल्मों के लिए एक संवाद लेखक के रूप में भी काम किया।

1990 के दशक के अंत में, सतीश कौशिक ने अपने निर्देशन की शुरुआत फिल्म “रूप की रानी चोरों का राजा” से की थी, जिसमें श्रीदेवी और अनिल कपूर ने अभिनय किया था। उन्होंने “प्रेम,” “हम आपके दिल में रहते हैं,” “मुझे कुछ कहना है,” और “तेरे नाम” सहित कई सफल फिल्मों का निर्देशन किया। सतीश कौशिक ने “तेरे संग” और “मिलेंगे मिलेंगे” के साथ फिल्मों का निर्माण भी किया। उन्होंने अपने काम के लिए कई पुरस्कार जीते थे, जिसमें “राम लखन” के लिए सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता का फिल्मफेयर पुरस्कार और “ब्रिक लेन” के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता का स्टार स्क्रीन पुरस्कार शामिल है।

फिल्मों में अपने काम के अलावा, सतीश कौशिक थिएटर में भी सक्रिय रूप से शामिल थे और उन्होंने कई नाटकों का निर्माण और निर्देशन किया था । उन्होंने “F.I.R” और “सुमित संभल लेगा” सहित कई टेलीविजन श्रृंखलाओं और कार्यक्रमों में भी अभिनय कियाथा।

कैसी थी सतीश कौशिक और अनुपम खेर की दोस्ती ?

सतीश कौशिक और अनुपम खेर कई दशकों से अच्छे दोस्त थे। दोनों 45 साल से एक दूसरे के बहुत अच्छे दोस्त थे। यही कारण है जो आज सतीश कौशिक के निधन की खबर से अनुपम खेर को इतना बड़ा सदमा लगा है। वे दोनों पहली बार दिल्ली में राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (NSD) में पढ़ते हुए मिले थे और भारतीय फिल्म उद्योग में काम करने के दौरान अच्छे दोस्त बन गए। इन वर्षों में, उन्होंने “राम लखन,” “हम आपके दिल में रहते हैं,” “साजन चले ससुराल,” “हसीना मान जाएगी,” और “विजय” सहित कई फिल्मों पर सहयोग किया है। वे नाटकों और टेलीविज़न शो में भी एक साथ दिखाई दिए हैं।

उनकी दोस्ती अपनी गर्मजोशी, स्नेह और आपसी सम्मान के लिए जानी जाती है। वे अक्सर सोशल मीडिया और इंटरव्यू में एक-दूसरे के काम की तारीफ करते हैं। उन्होंने मुश्किल समय में भी एक-दूसरे का साथ दिया है और एक-दूसरे की सफलताओं का जश्न मनाया है।

2021 में जब अनुपम खेर की मां का निधन हुआ तो सतीश कौशिक ने शोक व्यक्त किया और सोशल मीडिया पर एक दिल को छू लेने वाला संदेश साझा किया। उन्होंने लिखा, “आपने अपनी मां अनुपम को खो दिया है, लेकिन आपने उनके लिए जो प्यार और सम्मान था, उसे नहीं खोया है। वह हमेशा आपके दिल में रहेंगी, आपका मार्गदर्शन और प्रेरणा करेंगी। आपके साथ मेरी गहरी सहानुभूति और समर्थन है।”

कुल मिलाकर, सतीश कौशिक और अनुपम खेर की दोस्ती मनोरंजन उद्योग में साहचर्य और सौहार्द की स्थायी शक्ति का प्रमाण है।

सतीश कौशिक के निधन पर बॉलीवुड का रिएक्शन

बॉलीवुड एक्टर-डायरेक्टर सतीश कौशिक का निधन हो गया है. उनके निधन की खबर सबसे पहले उनके बेस्ट फ्रेंड अनुपम खेर ने दी. उन्होंने ऐसी बातें लिखीं है जो आपके दिल को छू जाएगी. उन्होंने ट्वीट किया “जानता हूं मृत्‍यु ही इस दुनिया का अंतिम सच हैं. लेकिन मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि ये बात मैं कभी अपने जिगरी दोस्‍त सतीश कौशिक के बारे में लिखूंगा। 45 साल की दोस्‍ती पर अचानक ऐसे पूर्ण विराम. तुम्‍हारे बिना जिंदगी अब कभी पहले जैसी नहीं होगी सतीश।”

Anupam kher recalls his 45 Years of Friendship with Satish Kaushik

सतीश के निधन से पूरी इंडस्ट्री ही नहीं बल्कि पूरे देश में दुख की लहर दौड़ गई. इसके बाद सोशल मीडिया पर लगातार सतीश कौशिक को श्रद्धांजलि दी जा रही है और लोगों को हैरानी भी हो रही है. बॉलीवुड से सतीश कौशिक के निधन पर किसने क्या कहा इसके बारे में आपको बताते हैं.
भारत के प्रधानमंत्री ने लिखा – “प्रसिद्ध फिल्मी हस्ती श्री सतीश कौशिक जी के असामयिक निधन से दुखी। वह एक रचनात्मक प्रतिभा थे, जिन्होंने अपने अद्भुत अभिनय और निर्देशन की बदौलत दिल जीत लिया। उनकी रचनाएँ दर्शकों का मनोरंजन करती रहेंगी। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना।

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया – अभिनेता, निर्देशक और लेखक सतीश कौशिक जी के आकस्मिक निधन से गहरा दुख हुआ। भारतीय सिनेमा, कलात्मक कृतियों और प्रदर्शनों में उनके योगदान को हमेशा याद किया जाएगा। उनके शोक संतप्त परिवार और अनुयायियों के प्रति मेरी गहरी संवेदना। शांति शांति

कंगना रनौत ने लिखा – मैं इस भयानक खबर से जाग गयी, वह मेरे सबसे बड़े चीयरलीडर थे, एक बहुत ही सफल अभिनेता थे, और निर्देशक सतीश कौशिक जी व्यक्तिगत रूप से भी एक बहुत ही दयालु और सच्चे इंसान थे, मुझे उन्हें इमरजेंसी में निर्देशित करना बहुत पसंद था। उनकी कमी खलेगी, ओम शांति

रितेश देशमुख ने ट्वीट किया – मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि आप चले गए हैं। आपकी हार्दिक हंसी अब भी मेरे कानों में गूँजती है। एक दयालु और उदार सह-अभिनेता होने के लिए धन्यवाद, और एक मूक शिक्षक होने के लिए धन्यवाद। आपको याद किया जाएगा, आपकी विरासत हमारे दिलों में जीवित रहेगी। #सतीशकौशिक जी

मनोज जोशी ने लिखा – मैं अपने सबसे प्रिय मित्रों में से एक सतीश कौशिक के दुखद निधन से स्तब्ध और दुखी हूं। उन्हें विभिन्न माध्यमों में उनके बहुमुखी प्रदर्शन के लिए याद किया जाएगा। मेरे विचार उनके परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों के साथ हैं। ॐ शांति

अभिषेक बच्चन ने ट्वीट किया – हमारे प्रिय सतीश कौशिक जी के निधन के बारे में सुनकर स्तब्ध हूं। सबसे कोमल, दयालु और प्यार करने वाला व्यक्ति। हमेशा खुश और मुस्कुराते रहे। हमारे उद्योग के लिए एक बड़ा नुकसान। रेस्ट इन पीस डियर सतीश अंकल। हम सब आपको याद करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *